Muscle Imbalance में सुधार करने के प्रभावी तरीके ।


Muscle Imbalance में सुधार करने के प्रभावी तरीके ।
Muscle Imbalance में सुधार करने के प्रभावी तरीके ।


नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका अमन डीप क्रिएशन्स ब्लॉग में।  दोस्तों आप में से बहुत से लोगों ने यह देखा होगा की आपकी arms, legs और कोई और muscle group का छोटा सा हिस्सा थोड़ा सा बड़ा और strong है दूसरे हिस्से से।  तोह क्या किया जा सकता है इस समस्या को ठीक करने के लिए ताकि वोह दोनों  हिस्से एक जैसे हो जाएँ  strength और size में।  


यह एक आम समस्या है जो बहु से गयम जाने वाले लोगों में देखि जाती है।  आमतौर पर एक arm या leg दूसरी से थोड़ी बड़ी और मज़बूत होती है और ऐसा किसी भी muscle के साथ हो सकता है।  





कुछ लोग से देखते हैं  कन्धा और chest की एक side दुसरे से बड़ी है।  यह ज़्यादातर उन लोगों में देखने को मिलता है को bar या rod को सही  तरीके से उपयोग नहीं करते क्यूंकि एक side strong होने की वजह से उस side से वजन जल्दी move करते है than other.


इसी  वजह से बहुत बड़ा issue हो सकता है , सिर्फ gym में ही नहीं बल्कि आम ज़िन्दगी मैं भी। 


चलिए जानते है कुछ तरीकों के बारे में जिनसे आप muscle imbalance को काम कर सकते हैं। 


1. डंबेल या एकतरफा अभ्यास पर स्विच करें (Switch to Dumbell or Unilateral Exercises)


अगर आपकी एक साइड दूसरी  साइड से मज़बूत है और आप वोह एक्सरसाइज कर रहे हैं जिसमें दोनों हाथों का उपयोग होता है तोह मज़बूत हाथ ज़्यादा train होगा , दोनों हाथों की बजाये जहाँ दोनों sides सही तरीके से train होनी चाहिए।  


For Example: In Barbell Curl Exercise - अगर आपका right bicep ज़्यादा मज़बूत है left bicep से।  तोह आपकी right arm हमेशा ज़्यादा काम करेगी एक्सरसाइज करते left arm की तुलना में।  


आप इसे एहसास नहीं कर सकेंगे क्यूंकि यह naturally होता है।  


आप द्विपक्षीय अभ्यास (Bilateral exercises) नहीं करें जिनमें दोनों sides एक साथ काम  करती है जैसे की barbell curl और उनकी जगह unilateral exercises करें जिनमें दोनों sides अलग अलग उपयोग होती है जैसे की Dumbell Curls. 


इससे हर side एक जैसा काम करेगी।  और अगर आप legs की बात करें तोह आप squat और 
leg press की जगह single leg press और split squat कर सकते हैं।  



2. हमेशा कमजोर मांसपेशियों के साथ शुरू करें (Always Start with the Weaker Side) 



आपका strong साइड को ज़्यादा विशेष ध्यान देना भी एक वजह है उस side के ज़्यादा strong और बड़ा होने के पीछे।  जिस side को आप दिन में शारीरिक कार्यवाही के लिए ज़्यादा उपयोग करते है  और ऐसा करके आप दूसरी side को कमज़ोर कर देते है।  


और एक्सरसाइज के दौरान आप weak साइड को ज़्यादा fatigue पाते हैं।  इसलिए आप जब भी Unilateral exercises करें तो कमज़ोर side को पहले train करें और फिर strong side को train करें।  



3. अपनी कमजोर मांसपेशियों को यह बताएं कि आपकी मजबूत मांसपेशी क्या करती है (Let your Weaker side dictate what your stronger side does)



जान आप ऊपर बताये गए तरीके follow करेंगे तो आप ये देख पाएंगे की आपकी strong side अभी भी strong है।  जिसका मतलब है की आप अभी भी अपनी weak side से 50 lbs के 10 reps कर पा रहे हैं और stronger से 50 lbs के 12 reps कर रहें हैं।  


और अगर आप ऐसा करते रहेंगे तोह आपकी weak side strong को पकड़ नहीं पाएगी।  तोह इसके लिए आप अपनी weak side को उतना ही train करें जितना आप अपनी strong side को करवा रहे हैं। 


So अगर आप 10 reps weak side से कर रहे हैं तो आप strong side से भी 10 reps ही करें even आप उससे ज़्यादा रेप्स भी कर सकते हैं बूत ऐसा नहीं करें।  


ऐसा करके आप अपनी weak side को एक मौका देंगे strong side की तरह काम करने का।  



4. अंतर्निहित समस्या को हल करें (Solve the Underlying Problem)



कभी कभी दोनों sides को एक जैसा train नहीं होने के पीछे flexibility और mobility एक वजह हो सकती है।  हो सकता है की एक tight हो दूसरी साइड से और वो उस side को एक्सरसाइज में use नहीं करने दे रही हो जो दूसरी side  है।  


तो ऐसी problems ठीक करने के लिए आपको warm up में changes की ज़रुरत है जिससे future में कोई समस्या न हो।  मेरे हिसाब से अगर आपकी weak side में flexibility और mobility काम है तो आप workout से पहले अच्छे से upper और  lower बॉडी को warm up कर लें।  



So दोस्तों आप इन तरीकों को apply करके देखें , यह आपको हेल्प करेंगे आपके muscle size और strength imbalances को improve करने में।  


जानिए Muscle Imbalance को ठीक करने के तरीके नीचे दी गयी Video को देखकर।




Post a Comment

0 Comments